Views: 216

Comment

You need to be a member of Bihar Social Networking and Online Community - Join Today to add comments!

Join Bihar Social Networking and Online Community - Join Today

Comment by Dr Tarkeshwar on December 18, 2016 at 8:46pm

बिहार पे लिखी मेरी कविता..पढ़े और इसे शेयर करे....

बिहार हूँ मैं बिहार
सम्राट आशोक के पराक्रम की तलवार हूँ मैं
महान चन्द्रगुप्त के साहस की ललकार हूँ मैं
गुप्तवंशी स्कंदगुप्त का हूणों पर प्रहार हूँ मैं
बलशाली बिम्बिसार के मगध का सूत्रधार हूँ मैं
बिहार हूँ मैं बिहार

महाज्ञानी वात्सयान के कामसूत्र का सार हूँ मैं
नितिज्ञाता कौटिल्य के अर्थशास्त्र का सार हूँ मै
शल्यज्ञ शुश्रुत के शल्य चिकित्सा का निखार हूँ मैं
खगोलविद आर्यभट्ट के शुन्य का अविष्कार हूँ मैं
बिहार हूँ मैं बिहार

शाक्य मुनी बुद्ध के धम्म का विहार हूँ मैं
शांतिप्रिय महावीर के कैवल्य का सत्कार हूँ मैं
जनक जानकी जरासंध की नगरी का आकार हूँ मैं
सिखों के १०वे गुरु गोविन्द सिंह का पालनहार हूँ मैं
बिहार हूँ मैं बिहार

सन १८५७ के वीर कुंवर के खड़क की धार हूँ मैं
मुगलो पे शेरशाह सूरी की जीत की जयकार हूँ मैं
चम्पारण में गाँधी के पहले सत्याग्रह की हुंकार हूँ मैं
वैशाली की नगरवधु आम्रपाली के पाजेब की झंकार हूँ मैं
बिहार हूँ मैं बिहार

प्रथम राष्ट्रपति राजेन्द्र बाबू का आभार हु मैं
राष्ट्रकवि दिनकर की उर्वशी का श्रृंगार हूँ मैं
जयप्रकाश नारायण के पूर्ण स्वराज की पुकार हूँ मैं
नालंदा उदंतपुरी विक्रमशिला के ज्ञान का भंडार हूँ मैं
बिहार हूँ मैं बिहार

ककोलत वाणावर्त का रमणीक संसार हूँ मैं
पित्रों की मोक्षभूमि गयाजी की पुकार हूँ मैं
समुन्द्र मंथन के पर्वत मंधार का आधार हूँ मैं
विश्व के प्रथम गणराज्य वैशाली का पहरेदार हूँ मैं
बिहार हूँ मैं बिहार

वाल्मीकि रचित रामायण का पावन संस्कार हूँ मैं
महर्षि गौतम की संगनी अहिल्या का उद्धार हूँ मैं
महर्षि दधिची की अस्थियों का बना हथियार हूँ मैं
दानवीर कर्ण की उदारता का अंगीकार हूँ मैं
बिहार हूँ मैं बिहार

वीरों ऋषियों और ज्ञानियों का भरमार हूँ मैं
बिहार हूँ मैं बिहार

डॉ तारकेश्वर नाथ

Sponsors

© 2018       Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service