Sneha Gupta's Blog (7)

पिया हम नहीं रहब तोहार अंगना...

पिया हम नहीं रहब तोहार अंगना...

संगीत के तीनो प्रकारों अर्थात चित्रपट संगीत, शास्त्रीय संगीत और लोक संगीत में सबसे ज्यादा कर्णप्रिय मुझे लोक संगीत ही लगता है. यहाँ तक की कई मशहूर चित्रपट संगीत में भी लोकगीतों की ही छाया दिख पड़ती है. और जब बात बिहार के भोजपुरी लोक गीतों की हो तो फिर कहना ही क्या. इन गीतों में घुली होती माटी की महक, बोली की सरसता तथा स्वभाव की निश्छलता. बिहार में हर अवसर क्या, हर पहर, हर घडी के लिए एक लोक…

Continue

Added by Sneha Gupta on May 30, 2012 at 11:44pm — No Comments

लहरिया कट बाइकर्स - शोधपत्र

बाइकर्स दो प्रकार होते है. एक वो जो एक सुसभ्य, सुसंस्कृत मनुष्य की तरह अपने पीछे बैठे अथवा बैठी दोस्त/ पापा/ चाचा/ मामा/मौसा इत्यादि अथवा गर्लफ्रेंड/पत्नी/दोस्त/मम्मी/चाची/मामी/मौसी/बहन इत्यादि का ख्याल रखते हुए बिलकुल मनुष्यों की तरह बाइकिंग करते हैं. दुसरे वो जो अमेज़न के जंगलो में रहने वाले अनाकोंडा सांप से प्रशिक्षण प्राप्त कर बाइकिंग करते है. इन्हें लहरिया कट बाइकर्स कहा जाता है. इन्हें इनका नाम अनाकोंडा जैसी लहरदार चाल के लिए मिला है.



मैंने लहरिया…

Continue

Added by Sneha Gupta on May 6, 2012 at 7:05pm — 1 Comment

kya kijiyega... jhel lijiye...

क्रोध प्रदर्शन प्रत्येक व्यक्ति का नैतिक अधिकार है. स्त्री हो अथवा पुरुष, सभी को पूरा पूरा हक है की वह अपने क्रोध का प्रदर्शन करें. क्रोध प्रदर्शन एक स्वाभाविक प्रक्रिया है. ठीक वैसे ही जैसे एक सियार के हुआ हुआ करने पर दुसरे सियारों की भी हुआ हुआ करने की इच्छा. या फिर कौआ कान ले गया कहने पर कान को देखने के बजाये कौए के पीछे भागने का स्वाभाविक उपक्रम. [ सभी सियारों, सभी कौओ और सभी "कानो" से मेरी करबद्ध क्षमाप्रार्थना]…
Continue

Added by Sneha Gupta on May 1, 2012 at 9:58am — No Comments

Moon and I...

The best part of my day starts when I come home from office. And the magical moments begin when after having dinner, I come to my study room. There are large windows in my study room which create magical path for the moonlight to enter my room. And I, sitting beside the windows, watch the moon. We talk endlessly. Sometimes, moon shifts its position from my continuous gaze to give me the clue pf the nearing dawn, so that I could…

Continue

Added by Sneha Gupta on April 30, 2012 at 8:53am — No Comments

बतौर चीफ गेस्ट मेरा पहला कार्यक्रम, नवोदय विद्यालय वैशाली समारोह के संस्मरण

नमस्कार साथियो,

kuch behad azeez aur yaadgaar pal aapse saanjha karna chahti hu. Mujhe Navoday Vidyalay, Vaishali ke Annual Day [26th April] me bataur Chief Guest aamantrit kiya gaya. Yah mere jeewan ke sabse sukhad palo me se ek hai. Bas apni khushi aapse baant rahi hu.
26th April ko  अहले सुबह, नवोदय के शिक्षक कार लेकर घर पर आये मुझे ले जाने के लिए. मैं बेहद nervous थी. मैंने हमेशा chief गेस्ट को receive किया था आज…
Continue

Added by Sneha Gupta on April 29, 2012 at 5:47pm — 4 Comments

जाने किस बात से है परेशान ज़िँदगी....

जाने किस बात से है परेशान ज़िँदगी

नियामतोँ के बीच है वीरान ज़िँदगी



इक तरफ हालात ज़ख्मी से पड़े हैँ

और इधर इस शोहरत से है हैरान ज़िँदगी



होँठोँ से मुस्कुराहटेँ जुदा न हुईँ कभी

और ज़रा सी इक खुशी से रही अनजान ज़िँदगी



लफ़्ज़ोँ से कहानी शुरू हुई थी उसी दिन

जिस दिन से हो गई थी बेज़ुबान ज़िँदगी



हर पल की जंग, एक जद्दोजहद जीने की

ज़िँदादिल से हौसलेँ मगर बेजान ज़िँदगी



कोई ख्वाब भी देख लेँ, कुछ खयाल भी सजा लेँ

हो जाए ग़र एक पल को भी…

Continue

Added by Sneha Gupta on April 28, 2012 at 8:41pm — 9 Comments

Hi, this is Sneha...

Added by Sneha Gupta on September 9, 2011 at 8:29am — 3 Comments

Forum

Funny Video

Started by People of Bihar Jul 31, 2017. 0 Replies

Industrilisation in bihar? how!

Started by Ca Subhash Kumar Singh. Last reply by Rajesh kumar jha Mar 10, 2017. 3 Replies

Markanadya Katju on Giving Bihar to Pakistan

Started by People of Bihar Oct 2, 2016. 0 Replies

Developing our own state instead of migrating to other parts of the country.

Started by Rannkumar chaurasia. Last reply by Rannkumar chaurasia Oct 6, 2014. 11 Replies

Vijay Goyal: STOP UP Bihar People to come to Delhi

Started by People of Bihar. Last reply by Ashutosh Kumar Sinha Aug 2, 2014. 2 Replies

Sponsors

© 2019       Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service