धर्मयुद्ध: "ब्राम्हणवाद बनाम दलितवाद" !!

                

धर्मयुद्ध: " ब्राम्हणवाद बनाम दलितवाद " !!

हमारे बिहार का विकास पिछले एक हज़ार सालो में इसलिए नहीं हो सका है क्यूंकि यह "धर्मयुद्ध: "ब्राम्हणवाद बनाम दलितवाद " चलता आ रहा है !! मै तमिलो के बीच रहा हू, वो इसीलिए विकसित है क्यूंकि  वहाँ  न तो ब्राम्हणवाद है न ही दलितवाद ! तमिल ऐसा मानते है और यह बाबासाहेब  अंबेडकर ने भी अपनी पुस्तक में लिखा है कि "भारत राष्ट्र" में जातिवाद का जन्म  "आर्य हमलावरों" ने किया था जिससे वो भारत देश पर निर्भय होकर राज कर सके !! बाल गंगाधर तिलक ने भी अपनी पुस्कत में आर्य हमलो कि बात कही है !! भारत देश पर शासन करने के लिए आर्य लोगो ने भारत को जातियों में तोड  दिया , जिनका नाम था ब्राम्हण , क्षत्रिय , वैश्य और शुद्रो (जो आगे चलकर दलित कहलाये) !! जिन्हें शुद्र कहा गया वो वास्तविक में सच्चे भारतीय थे जो आज द्रविड़ कहे जाते है और भंगी, चमार, मेहतर, कुर्मी, पता नहीं  क्या  क्या नाम दे रखा है हमारे लोगो को ?? यह रणनीति काम आई और आर्यो खुद  ऊँची जाति  लेकर बैठ गए , वो खुद को सर्वश्रेष्ठ  ब्राह्मिन और क्षत्रिय कि उपाधि ले बैठे और भारत जातिवाद की हिंसा का शिकार हो गया !! भारत देश में नीची जाति कहलाने वालो पर इतनी हिंसा  कि गयी कि वो सब लोगो ने धर्मपरिवर्तन करा के मुसलमान और इसाई बन गए !! फिर देश स्वंतंत्र हुआ और धरम के नाम पर भारत का बंटवारा हो गया , मुसलमानों को पाकिस्तान मिल गया और हिन्दुओ को हिंदुस्तान मगर हिंदुस्तान में जात तब भी ख़तम नहीं हुई और सबसे ज्यादा प्रभावित हिंदी बोलने उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग ही हुए !! जहाँ  तमिल कन्नड़, तेलुगु, मलयाली  लोगो ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बनने पर जमकर विरोध किया वही हिंदी बोलने वालो ने हिंदी को ज़बरदस्ती राष्ट्रभाषा  बनाने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी , हिंदी को लेकर तमिल नाडू में दंगे भी हो गए मगर हिंदी नेता तस से मास नहीं हुए !! उन्होंने उत्तर भारत के लोगो में यह भावना भडी कि हम सब आर्य है और इन काले दिखने वाले द्रविड़ो से श्रेष्ठ है , भोली भली जनता ने यह बात मान भी लिया  और इस बात को मनवाया RSS के लोगो  ने !! जहाँ दक्षिण भारत ने ब्राम्हणवाद और दलितवाद  दोनों को अस्वीकार कर दिया और मनुष्यों के सामान अधिकारों कि बात कही  वही उत्तर भारत के नेता अंधे ब्राम्हणवाद और दलितवाद के चपेट में आ गए !

 परन्तु बिहार जिसका वास्तविक नाम मगध है , मगध को इस जातिवाद का सबसे बड़ा खामियाजा भोगना पड़ा , जहाँ बिहार (मगध) ने सम्राट अशोक के समय में बिहार से जातिवाद  उखाड़ कर फेक दिया था और विश्व  का महानतम देश बन गया था, हमारा मगध देश (बिहार) जिसको हमारे पूर्वज अशोक ने अपने खून से सीचा, उसी बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री ने  श्री कृष्ण सिन्हा ने जातिवाद कि वो नीव रख दी जो स्वन्तन्त्रता के ६५ सालो बाद भी नहीं समाप्त हो पाई है , यहाँ लोगो ने जात के नाम पर सेना बना ली, रणवीर सेना, यादव सेना, ब्रह्मिन सेना , MCC (काश बिहार सेना बनाया होता तो बिहार के लोगो की महाराष्ट्र  में हत्या नहीं होती ), आपको शायद याद नहीं होगा मगर मै याद दिला देता हू इसी रणवीर सेना के लोगो ने 1997 में इन लोगो ने 16 बच्चो, 27 महिलाओ, 18 लोगो कि हत्या कर दी , 1995 में ५० लोगो को मार डाला , 1999 में २२ लोगो को मार डाला , बिहार को लोग दूसरा कश्मीर कहने लगे और यह सब हुआ सिर्फ जातिवाद के कारण !! इन लोगो ने सिर्फ दलितों को मारा यह कहकर कि यह नीची जात वाले है !! वही  MCC  वाले ने भी बहुत सारे बेगुनाह लोगो  को मौत के घाट उतारा  (यह जतिग्रसित लोग बचपन में  आज तक कभी अपने बाप और माँ से कभी  नहीं पूछते है  कि पिताजी तुम्हारी जात क्या है, माँ तुम कौन जात से हो  ??  लेकिन बाकी सारे लोगो से पूछते है कि तुम्हारी जात क्या है, सब नामर्द है जो एक नारी पर शास्त्र उठाते है, बच्चो कि हत्या करते है ) !

अब आते है हमारे भाई उत्तर प्रदेश प्रदेश पर , जहाँ उत्तर प्रसेश में ब्राह्मणवाद को BSP ने उखाड़ फेका , वही दलिवाद ने अपना पैर पसार लिया, उत्तर प्रदेश दलितवाद के प्रभाव में आ गया !! आपने ब्राम्हणवाद तो सुना होगा, दलितवाद  शायद पहली बार सुन रहे है !! मेरा मानना है कि अगर ब्राम्हणवाद पाप है तो दलितवाद भी पाप है, जहाँ ब्राम्हणवाद में सिर्फ ब्राम्हणवाद की बात होती है, वही दलितवाद में सिर्फ दलितवाद की बात होती है , और भारत का विकास सिर्फ एक जाति के लोगो की बात करके नहीं होगा, आप देखिये उत्तर प्रदेश में दलितवाद अपने चरम पर है, दलित महिला मुख्यमंत्री , दलितों को Reservation और पता नहीं कितनी सारी सुविधाए परन्तु फिर भी उत्तर प्रदेश विकसित राज्य की श्रेणी से कोसो दूर है, आये दिन निर्दोष लोगो की हत्या होते रहती है  !! अब आते है तमिल नाडू पर , तमिल नाडू में न ब्राह्मणवाद है , न दलितवाद !! उत्तर भारत की मीडिया चाहे जितना भी करूणानिधि की बुराई करे परन्तु सत्य है की वो एक महानतम तमिल है , उन्होंने लत्ते को इतना मदद किया जितना RSS हज़ार जन्मो में भी हिन्दुओ को नहीं कर पायेगा, करूणानिधि ने अपनी पुस्तक में लिखा है, मै ब्राह्मण का विरोधी नहीं हू, मै ब्राम्हणवाद का विरोधी हू, यह वैसे ही है जब कोई बिहार के लोग कहते है , हम महाराष्ट्र के विरोधी नहीं उस राक्षस "राज ठाकरे" के विरोधी है जो भरे समाज में बिहार के लोगो को पीटने और उनका खून बहाने की वकालत करता है जैसे नाज़ी हिटलर यहुदुओ के खून बहाना पवित्र करम मानता था , और यह सहज संयोग ही नहीं समानता है की राज ठाकरे हिटलर को अपना आदर्श मानता है , वो बिहार के लोगो का खून बहाना "मराठा धरम" मानता है !!

 

मै ब्राम्हणवाद की कुछ निशानी लिख रहा हू , ज़रा ध्यान दे :

 

ब्राम्हणवाद के प्रमुख अन्यायकारक तत्व :
01) वर्णव्यवस्था छुआछुत भेदभाव उच्च-नीच को मान्यता देना
02) महिलाओ की गुलामी को बरक़रार रखन
03) अन्धविश्वास पूजा अर्चना कर्म कांड को मान्यता देना
04) भाग्य और भगवन के भरोसे रखकर लोगों को अकर्मण्य बनाना
05) अवतारवाद को मान्यता देना
06) पाखंडवाद को मजबूती देना
07) आदमी के अन्दर की विचार शक्ति, चिंतन बुद्धि और विवेक बुद्धि को नष्ट करना
08) आदमी को जानवर बना के रख देना
09) समाज का सम्पूर्ण नियंत्रण नेतृत्व अपने हाथ में लेना
10) सत्ता पर सदैव कब्ज़ा करना
11) गुरु मार्गदर्शक केवल ब्राम्हण ही होने को मान्यता देना
12) ब्राम्हण को भोजन और दान से समस्त पापो का ख़त्म होने की मान्यता का प्रचार करना
13) स्वर्ग नरक के चक्कर में फसकर ठगना
14) आदमी को जन्म से मृत्यु तक अपने कब्जे में रखना
15) क्रमिक असमानता को बनाये रखना
16) विभिन्न जातियो का निर्माण कर उन्हें ६००० टुकडो में बाटना
17) एकता विरोधी वातावरण बनाना

 

अब मै दलितवाद के अंश लिख रहा हू :
1) सिर्फ और सिर्फ दलितों की बात करना
2) हर समय Reservation मांगते रहना , Reservation मिलने के बाद भी खुश नहीं रहना
3) हमेशा झगडते रहना , अपने आप को स्पेशल status देने की मांग करना
4) जातिवाद को और मजबूत करना
5) दलित Reservation की वजह से अयोग्य व्येक्ती का उच्चे पद पर कार्यरत होना जिससे सम्पूर्ण व्यय्स्था का नष्ट होना
6) Rational Thinking को स्वीकार ही नहीं करना

आज हमने यह देख लिया की ब्राम्हणवाद हो या दलितवाद दोनों असफल हो चुके है ,  जब भी किसी भी जात की बात होगी, यह क्रिया असफल ही होगी, हमारी सिर्फ एक ही जाति है और वो है मनुष्य जाति !! तमिलो ने इस सत्य को मन और तमिल नाडू एक बहुत ही विकसित राज्य है !!

 

मै, आकाश अर्जुन, मगध (बिहार) का एक पुत्र  सिर्फ ये बताने की कोशिश कर रहा है की अगर बिहार को आगे बढ़ाना है  यह हमें अपने पूर्वज सम्राट अशोक की तरह सोचना होगा और बिहार से जाति का नामोनिशान मिटाना होगा, मै आपको अशोक वंदना के वो शब्द सुनाता हू जो अशोक ने तक्षिला से युद्ध होने से पहले मगध (बिहार) के सैनिको को कहा था  "तुम न तो ब्राम्हण हो, न ही क्षत्रिय, न ही वैश्य, न ही शुद्र, तुम आज सिर्फ और सिर्फ मागधी हो, तुम्हे तक्षिला को मगध के ध्वज के भीतर लाना है, इस पृथ्वी पर जहाँ जहाँ भूमि है मै उसको मगध (बिहार) के ध्वज के अंतर्गत देखा चाहता हू, मगध जयते !! मगध का पराक्रम अमर रहे !! मगध जयते !!" न तो ब्राम्हणवाद उचित है न ही दलितवाद , इसीलिए इन दोनों को उखाड़ को फेक दो और मगधवाद (मनुष्यवाद) को स्वीकार करो , अब वो काल आ गया जब हमारा बिहार फिर से शासन करेगा , आप सब जाग जाइए , अब हमारा समय आ गया है !!

 

जय हिंद जय बिहार !!
मगध जयते !!

 

आकाश अर्जुन !!

 

Views: 4125

Reply to This

Replies to This Discussion

namskar arjun ji. apne jis samaj ki bat ki hai wo ho haye to sabse acha hai.lekin itni jaldi hoga wo sambhav nahi dikta.sayad ye jaroor hoga muje bhi yahi umid hai. lekin apne likha tamilnadu ne ye bhavna nahi hai,apko pata hai waha yah bhavna sabse jayada hai,60% se jayda reservation wahi hai. koi brahmin waha cm nahi ban sakta waha waisi politics hai. Tamilnadu tab bhi bihar se kaphi developed hai.aur ap RSS ko har jagha kyo Late ho.RSS ne jo bate ki hai bahut kuch sahi bhi hai. des me sabke liye ek kanoon ho galat hai,article 370 hatana galat hai.abhi suprim court ne bhi kaha hai ki sirf hindu law me change ki bat kyo hoti hai dusre community me kyo nahi.aur apnr ranvir sena ki bat ki. us samay bihar ki kya halat thi wo sabko pata hai.apne acha lika ki kas humne bihar sena banayi hoti. lekin development ke lie sena nahi chaye.yadi apko sena banani hai to corruption ke kilaph sena banaye jo bihar kya pure des ka nas kar rahai hai.aur apne aryo ko jimedar tahara diya jat pat me batne ka.tamilnadu me hue hindu andolan se ye bhavna nahi bharki ki hindi bhasi ary hai.ap karunanidhi ko sahi bol rahe ho raja ko mantri banane wal wahi sakash tha. itna hone ke bad bhi raja resign karne ko tayar nahi tha.unki beti ka bhi nam 2G se jur raha hai.
apne ranvir sena ke 16 maut yad rakha lekin us samay MCC ne darjono aise ghatnaye ki.mai na ranvir sena ke sath hoo na mcc ke . mai un dono ke un ghatnao ka birodh karta hoo.lekin Bihar ko devlop hone me ye sab isuue nahi ayega, aur development ke sath ye sab jat-pat apne ap kam ho jayega.so bihar ko develop kijye, corruption rokiye. aur kam se kam hum log jitna ho sake jat pat ki bhavna se upar utkar naye bihar ke bare me soche.
dhanayabad aakash arjun jee , aapne  dharmyoodh  brahmanbad  banam dalitbad  ke madhayam se jo kahana  chaha hai bahut hi sarahaniya hai, aaj bihar ko  jatibad se ubarne ki aavashyakata hi.............jai mithla jai maithil  jai bihar
Dhanyavaad Ranjan ji, maine waha MCC wali baat bhi edit karke rakh diya hai, Murder jiska bhi ho, wo ek jaghanya apradh hai, mera manna hai ki ekdusre ko maarne se balki ekdusre ke sath milkar aur Personal Ego hatakar kaam karne se hi hum Bihar ko develop kar sakenge !!

Ranjan kumar jha said:
apne ranvir sena ke 16 maut yad rakha lekin us samay MCC ne darjono aise ghatnaye ki.mai na ranvir sena ke sath hoo na mcc ke . mai un dono ke un ghatnao ka birodh karta hoo.lekin Bihar ko devlop hone me ye sab isuue nahi ayega, aur development ke sath ye sab jat-pat apne ap kam ho jayega.so bihar ko develop kijye, corruption rokiye. aur kam se kam hum log jitna ho sake jat pat ki bhavna se upar utkar naye bihar ke bare me soche.
Priye Ranjan ji, maine Karunanidhi ko sahi nahi theraya, mera manna hai har insaan mei kuch acchayi hoti hai aur kuch burayi, kaunanidhi ho sakta hai bahut corrupt ho magar usne jo Tamil Nadu ke liye kiya hai uske liye wo nischit hi Prasansa ka patra hai !! Raja ne jo kiya wo galat hai, magar LTTE problem ke waqt Tamil Refugees in Lanka ke liye Karunanidhi ne Indian Government se pressure dalwakar paisa bijwaye, Sri Lanka par pressure dalwaya, jab Tamils ekjut reh sakte hai toh hum Biharwasi kyu nahi??

Ranjan kumar jha said:
namskar arjun ji. apne jis samaj ki bat ki hai wo ho haye to sabse acha hai.lekin itni jaldi hoga wo sambhav nahi dikta.sayad ye jaroor hoga muje bhi yahi umid hai. lekin apne likha tamilnadu ne ye bhavna nahi hai,apko pata hai waha yah bhavna sabse jayada hai,60% se jayda reservation wahi hai. koi brahmin waha cm nahi ban sakta waha waisi politics hai. Tamilnadu tab bhi bihar se kaphi developed hai.aur ap RSS ko har jagha kyo Late ho.RSS ne jo bate ki hai bahut kuch sahi bhi hai. des me sabke liye ek kanoon ho galat hai,article 370 hatana galat hai.abhi suprim court ne bhi kaha hai ki sirf hindu law me change ki bat kyo hoti hai dusre community me kyo nahi.aur apnr ranvir sena ki bat ki. us samay bihar ki kya halat thi wo sabko pata hai.apne acha lika ki kas humne bihar sena banayi hoti. lekin development ke lie sena nahi chaye.yadi apko sena banani hai to corruption ke kilaph sena banaye jo bihar kya pure des ka nas kar rahai hai.aur apne aryo ko jimedar tahara diya jat pat me batne ka.tamilnadu me hue hindu andolan se ye bhavna nahi bharki ki hindi bhasi ary hai.ap karunanidhi ko sahi bol rahe ho raja ko mantri banane wal wahi sakash tha. itna hone ke bad bhi raja resign karne ko tayar nahi tha.unki beti ka bhi nam 2G se jur raha hai.
bilkul sahi kaha apne hatya galat chij hai wo kisi ka bhi wo.jatiwad aisi chij hai jo 5 sal me khatam hone wala nahi hai. iske liye samay lagega.ye dire dire kam ho raha hai.lekin abhi development jaroori hai yadi bihar developed hoga to uska phayada sabko milega.abhi usse tatkal jaroori isuue hai corruption, work culture in bihar, crimanal mp mla in bihar,primaray education,healthcare,agriculture revolution. in chijo per dhyan dene ki jaroort hai. kyoki yadi ye sab ho gaya log pad likh gaye to baki ye jatiwad sab jaldi khatam ho jayega.abhi jaroori hai bihari ke liye bihar me job ki babystha karna.

I agree with you dear,

please forward this text to every indian, because i am doing this.

I thought of bringing this conversation to the Top since I believe this also needs an attention.
Thanks Tina ji !!

jangal me jaa rahe ek ladke aur uske mama par gundo ne hamla kar diya..ladke ne jauhar dikhaya..aaur sare dakkuao se akele bheer gaya..dakku takatbar the..fir bhi ladke ki bahaduri dekhne layak thi..lagbhag usne sabko ghayal kar diya..tabhi uske mama ne toka..bhanje tumahre sar par se khoon gir raha hai..ladka khoon dekh kar behosh gaya..

       arjun ji aapne jo itihaas padha hai..usse hame padhane me aapne jaldibazi kar di..meri jankari sahi ho to aap hi iss community ke moderator hai..aapke kuchh wakya..kisi jati bishesh par tippni hai..partikriya hui to community par bises asar pad sakta hai..aapne ranbir sena ko yad kar liya..mcc ka nahi..bihar sena ki baat kah daali..par sayad kisi bhi jang ka parinam kisi ke liye sahi nahi hai..aapne drabiro ki jati samanta par bhi tippni kar dali par ye nahi dekha ki aapke bagal me reddy aur naydu ki ladai hum yahi se baithe dekhte hai..aur aap sayad duniya ke sabse bade nexlite area ke paas hain..

                                                  sirsak sahi hai,,, 

धर्मयुद्ध: "ब्राम्हणवाद बनाम दलितवाद" !!

yah chala aaraha hai..aur issthiti utni bhi buri nahi thi jatni yahudiyo aur issaio ki..siya ki aur suni ki..aary wah nahi gaye the..sansar ke jiwan chakar ke liye yah sab ek maap dand hai..bura hota to itna lamba jinda ittihaas nahi hota..kast nichli jatio ne dekha hai..to uppar ke jatio ne bhi...

apne pura article padha nahi kya. waha mcc aur ranbir sena sab ki bat hai. hinsa koi bhi kare hinsa hota hai. insan kisi bhi jat ka mare insan hota hai. apne apna comparison aur bure se kyo karna chate hai. ap ache bhi ban sakte hai. ye itni mehnat hum apko ek karne ke liye hi hai. insan ko insan se jorne ke liye hi hai.hume bihar ka bikas karna hai. hum sab pahle bihari hai cast bad me ayega.

bahut accha likha Aakash...

Reply to Discussion

RSS

Forum

Funny Video

Started by People of Bihar Jul 31, 2017. 0 Replies

Industrilisation in bihar? how!

Started by Ca Subhash Kumar Singh. Last reply by Rajesh kumar jha Mar 10, 2017. 3 Replies

Markanadya Katju on Giving Bihar to Pakistan

Started by People of Bihar Oct 2, 2016. 0 Replies

Developing our own state instead of migrating to other parts of the country.

Started by Rannkumar chaurasia. Last reply by Rannkumar chaurasia Oct 6, 2014. 11 Replies

Vijay Goyal: STOP UP Bihar People to come to Delhi

Started by People of Bihar. Last reply by Ashutosh Kumar Sinha Aug 2, 2014. 2 Replies

Sponsors

© 2019       Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service